Home

Latest Posts



Latest From World Paper

  • Profile picture of Shweta Pandey

    तुम असिमित विस्तार हो मेरे स्वप्नों का
    अधूरी आकांक्षाएं लिये मेरे बोझिल नैन
    किसी निशब्द रात्रि के साथ
    तुम्हारे स्वप्नों के प्रांगण में उतरकर
    कोई पूर्ण होते ख्वाब को देखकर ठहर गये हो

    श्वेत चाँदनी सी जो तुम्हारी पैरों की नूपुर
    मेरे मन के आँगन में एक मधुर स्वर की झंकार करते
    मेरे प्रेम को पल्लवित करती
    और मैं अलसायी आँखों को मूंदकर
    अपने अनकहे शब्दों…[Read more]

    Share
  • Profile picture of vividhjay

    तौर तरीकों से इबादत की मेरे
    मुझको कोई मजहबी नाम न देना
    हिंदू न कहना मुझको मुसलमां न कहना
    कहना ही गर जरूरी हो तो मुझको
    सबसे पहले हिन्दोस्ताँ ही कहना

    *विविध जय*

    Share
  • Profile picture of VIJAY KUMAR KHEMKA

    कल रात
    जब बैठा था मैं
    अपने खाने की मेज़ पर
    अभी एक निवाला
    उठाया ही था कि,
    देखा सामने तुम बैठी हो
    मुस्कुराती हुई
    मुझे निहारती हुई।
    किसी रुई की तरह
    कोमल लग रही थी तुम,
    सोचा तुमसे कुछ बातें तो करू,
    और जैसे ही पास जा कर
    तुम्हे छूना चाहा,
    ना जाने एक हवा के झोंके के साथ
    तुम रुई की ही तरह उड़ गई।

    तभी पीछे से आवाज़ आई कि,
    कहाँ खो गए?
    निवाला हाथ मे ही रखोग…[Read more]

    Share
  • Profile picture of Dashmeet Singh

    Mere har marz ki dawa tu hone laga,
    Mera har dard mujhse “khafa” hone laga,
    Pehli dafa kisi ka khafa hona mujhe raas aa raha tha,
    Kyuki mujh jaise zarre ke Muqaddar ka pehredaar koi aur hone laga tha..

    Share
  • Profile picture of seervi prakash panwar

    मुझे बेशक़ मोहबत होती तुझसे,
    अग़र बिन तेरे जीना सिखाया होता।
    –सीरवी प्रकाश पंवार

    Share

Some Category Wise Showcased Posts

Shayari

Quotes

Funny

Videos

©2017 KLEO Template a premium and multipurpose theme from Seventh Queen

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account