Aaj Bhai Ne Bhai Se – Hindi Kavita

Login and start writing on World Paper.
Best post will be showcased on the main website and will be shared on our social media pages.

Log In

Copyright © devansh raghav

आज भाई ने भाई से

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

दर्द- वेदना के तानों ने,
आज दिया झंकार मुझे !!
उसने ही थप्पड़ दिखाया,
जिसने दिया था प्यार मुझे !!

अहम बड़ा हो सकता है कितना,
आज ये जाना है !!
आज भाई ने भाई से बढ़कर,
भाई को पहचाना है !!
गलती थी अपराध था किसका,
बोध नहीं मुझ बालक को !!
आज निशब्द कर डाला,
हालातों के संचालक को !!

क्या इतना भी नहीं है मेरा,
तुझ पर ये अधिकार सुनो !!
अगर कभी कुछ कह देता हूँ,
समझ उसे भी प्यार सुनो !!
मम अनुज सम प्रिय तुम,
यही राम की रीत सुनो !!
गलती अगर होती है हमसे,
माफ़ करो अपनी जीत चुनो !!

तर्क तुम्हारा है निरर्थक,
कि सुनना नही भाता है !!
सुनकर ही निर्मम बालक,
शब्द स्वरुप बोल पाता है !!
कलयुग की बेड़ी है कैसी,
अपना आँख दिखता है !!

अपनों के हृदयों को जो तुम,
उचित सम्मान नही दोगे !!
इस जीवन में सारे अपने खुद ही,
तुम प्यारे खो दोगे !!
~देवांश राघव

dard-vedna ke taano ne,
aaj diya jhankar mujhe !!
usne hi thappad dikhaya,
jisne diya tha pyaar mujhe !!

eham bada ha sakta hai kitna,
aaj ye jana hai !!
aaj bhai ne bhai se badhkar,
bhai koi pechaana hai !!
galti thi apradh tha kiska,
bodh nahi mujh balak ko !
aaj nishabd kar dala,
halaato ke sanchalak ko !!

kya itna bhi nahi hai mera,
tujh par ye adhikaar suno !!
agar kabhi kuch keh deta hoon,
samajh use bhi pyaar suno !!
mam anuj sam priye tum,
yahi raam ki reet suno !!
galti agar hoti hai hamse,
maaf karo apni jeet chuno !!

tark tumhara hai nirrthak ,
ki sunna nahi bhata hai !!
sunkar hi nirmam balak,
shabd swaroop bol pata hai !!
kalyug ki bedi hai kaisi,
apna aankh dikhaata hai !!

apno ke hrideyoko jo tum,
uchit samman nahi doge !!
is jeevan mein saare apne khud hi,
tum pyaar khoo doge !!
~Devansh Raghav

To report this post you need to login first.




0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

About Us | Contact Us | Terms | Privacy | Guide | Help & Support

© 2016 Poems Bucket| All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account