Bees Din – Sad Love Shayari

Login and start writing on World Paper.
Best post will be showcased on the main website and will be shared on our social media pages.

Log In

Copyright © Rizwan Riz

बीस दिन

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

बीस दिन हो गए, उससे बात किए हुए,
बीस दिन बाक़ी हैं शायद, इस ज़िंदगी के लिए !!

बीस दिन से लफ्ज़ भी, मेरे कुछ ख़ामोश हैं,
बीस दिन से मानो जैसे, हम भी कुछ मदहोश है !!

बीस दिन से दिल को, कुछ न अच्छा लगता है,
बीस दिन से कोई भी, शख़्स न सच्चा लगता है !!

बीस दिन से आँखों में, कुछ नमी-नमी-सी रहती हैं,
सब है मेरे पास में फिर भी, कमी-कमी-सी रहती है !!

बीस दिन से हालत ऐसी है, न हँसते हैं न रोते हैं,
बीस दिन से पता नहीं, कब जगते हैं कब सोते हैं !!

बीस दिन से चाँद भी, खुद से नाराज़-सा लगता है,
देर से निकलता है, बड़ी ज़ल्दी-ज़ल्दी छिपता है !!

बीस दिन पहले छोड़ गया था, वो मुझको तन्हाई में,
बीस दिन से ढूँढ रहा हूँ, उसको ख़ुद की परछाई में !!

बीस दिन तो बहाना है, हम अरसों से उनसे दूर हैं,
कैसे कहें क्या बतलाएँ, कितने हम मजबूर हैं !!

बीस दिन की ये जुदाई, बीस बरस-सी लगती है,
दिल बेचारा तड़पता है, बेबस नज़रें तरसती हैं !!

बीस दिन से राहों में, इक सूनापन-सा रहता है,
बस ठहरो अब ठहरो “रिज़वाँ”, रस्ता मुझसे कहता है !!
~रिज़वान रिज़

Bees Din

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Bees Din Ho Gaye, Usse Kiye Huye,
Bees Din Baaki Hai Shayad, Is Zndgi Ke Liye !!

Bees Din Se Lafz Bhi, Mere Kuch Khamosh Hai,
Bees Din Se Maano Jaise, Ham Bhi Kuch Madhosh Hai !!

Bees Din Se Dil Ko, Kuch Na Accha Lagta Hai,
Bees Din Se Koi Bhi, Shakhs Na Saccha Lagta Hai !!

Bees Din Se Anksho Mein, Kuch Nami-nami Si Rehti Hai,
Sab Hai Mere Paas Mein Phir Bhi, Kami-kami Si Rehti Hai !!

Bees Din Se Haalat Aisi Hai, Na Haste Hai Na Rote Hai,
Bees Din Se Pta Nahi, Kab Jagte Hai Kab Sote Hai !!

Bees Din Se Chand Bhi, Khud Se Naraz-sa Lagta Hai,
Der Se Nikalta Hai, Badhi Jaldi-jaldi Chipta Hai !!

Bees Din Pehle Chod Gya Tha, Wo Mujhko Tanhai Mein,
Bees Din Se Dhoond Raha Hu, Usko Khud Ki Parchai Mein !!

Bees Din To Bhana Hai, Ham Arso Se Unse Door Hai,
Kaise Kahe Kya Batlaye, Kitne Ham Majboor Hai !!

Bees Din Ki Ye Judai, Bees Baras-Si Lagti Hai,
Dil Bechara Tadapta Hai, Bebas Nazre Tarasti Hai !!

Bees Din Se Raho Mein, Ek Sunapan-sa Rehta Hai,
Bas Thehro Ab Thehro “Rizwan”, Rasta Mujhse Kehta Hai !!
~Rizwan Riz

To report this post you need to login first.




0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

About Us | Contact Us | Terms | Privacy | Guide | Help & Support

© 2016 Poems Bucket| All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account