Chal Chalte Hai Wahan – Love Shayari

Login and start writing on World Paper. Best poetry will be showcased on website and will be shared on our social media profiles.
Login

Copyright © Jinender Kohli

चल चलते हैं वहाँ

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

चल चलते हैं वहाँ
इस जहाँ से आगे उस नीले आसमाँ में
उस दूसरे जहाँ में
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ चाँद और तारे छिपते हैं…
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ इंसानी साए भी जाकर रुकते हैं…
चल चलते हैं वहाँ
जहां रोज सवेरे नयी किरने उगती हैं…
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ रातों में भी रोशनी दिखती हैं…
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ मंजिले कामयाब होती हैं
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ कि कहानियाँ नायाब होती हैं…
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ चाँद की रोशनी में
अलग ही बात होती है
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ मोहोब्बत की शुरुआत होती है
चल चलते हैं वहाँ
जहाँ के फूलों की महक
में अलग ही बात होती है…
चल चलते हैं वहाँ
इस जहाँ से आगे उस नीले आसमाँ में
उस दूसरे जहाँ में !!
~जिनेंदर कोहली

Chal Chalte Hai Wahan

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Chal Chalte Hain Wahan
Is Jahan Se Aage Us Neele Aasma Mein
Us Dusre Jahan Mein
Chal Chalte Hain Wahan
Jahan Chand Or Taare Chhupte Hain…
Chal Chalte Hain Wahan
Jahan Insaani Saaye Bhi Jaakar Rukte Hain…
Chal Chalte Hain Wahan Jahan
Roj Savere Nayi Kirane Ugti Hain…
Chal Chalte Hain Wahan Jaha
Raato Mein Bhi Roshni Dikhti Hain…
Chal Chalte Hain Wahan Jaha…
Manjile Kamyaab Hoti Hain
Chal Chalte Hain Wahan Jaha
Kahaniya Naayaab Hoti Hain…
Chal Chalte Hain Wahan Jaha
Chand Ki Roshni Mein Alag
Hi Baat Hoti Hai
Chal Chalte Hain Wahan Jahan
Mohobbat Ki Shuruat Hoti Hai
Chal Chalte Hain Wahan
Jahan Ke Phoolon Ki Mehak
Mein Alag Hi Baat Hoti Hai…
Chal Chalte Hain Wahan
Is Jahan Se Aage Us Neele Aasma Mein
Us Dusre Jahan Mein !!
~Jinender Kohli

To report this post you need to login first.
0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

©2018 Poems Bucket | Best Website For Poems & Shayari

Log in with your credentials

Forgot your details?