Ek Dost – Dosti Shayari

Login and start writing on World Paper. Best poetry will be showcased on website and will be shared on our social media profiles.
Login

Copyright © NiVo (Nitin Verma)

एक दोस्त

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

दोस्तों में एक दोस्त बहुत खास होता है,
वो दोस्त अक्सर दिल के पास होता है !!
दोस्तों के होने पर भी वो दोस्त न हो अगर,
अक्सर इस दिल को बुरा एहसास होता है !!

एक दोस्त की दोस्ती पर सब फनाह होता है,
उस दोस्त से अगर रूठ जाए तो गुनाह होता है !!
एक दोस्त होता है खास इतना,
जिस पर भरोसा बेशूमार, बेपनाह होता है !!

शरीर में बसती रूह वो एक दोस्त होता है,
दिल में धड़कती धड़कन वो एक दोस्त होता है !!
घाव देती है अगर ये दुनिया कोई, तो,
उसका सुकून, चैन, मलहम वो एक दोस्त होता है !!

वो लड़ता है, झगड़ता है, परेशान होता है,
पर न शत्रु, न कभी बईमान होता है !!
एक दोस्त सिख, ईसाई, हिन्दू, न मुसलमान होता है,
वो तो बस एक सम्पूर्ण इंसान होता है !!
~नीवो (नितिन वर्मा)

Ek Dost

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Dosto’n Mein Ek Dost Bohot Khaas Hota Hai,
Wo Dost Aksar Dil Ke Paas Hota Hai !!
Dosto’n Ke Hone Par Bhi Wo Dost Na Ho Agar,
Aksar Is Dil Ko Bura Ehsaas Hota Hai !!

Ek Dost Ki Dosti Par Sab Fanah Hota Hai,
Us Dost Se Agar Rooth Jaaye To Gunah Hota Hai !!
Ek Dost Hota Hai Khaas Itna,
Jis Par Bharosa Beshumaar, Bepanah Hota !!

Sharir Mein Basti Ruh Wo Ek Dost Hota Hai,
Dil Mein Dhadkti Dhadkan Wo Ek Dost Hota Hai !!
Ghaav Deti Hai Agar Ye Duniya Koi, To,
Uska Sukoon, Chain, Malham Wo Ek Dost Hota Hai !!

Wo Ladta Hai, Jhagadta Hai, Pareshaan Hota Hai,
Par Na Shatru, Na Kabhi Baimaan Hota Hai !!
Ek Dost Sikh, Isai, Hindu, Na Musalmaan Hota Hai,
Wo To Bas Ek Sampoorn Insaan Hota Hai !!
~NiVo (Nitin Verma)

To report this post you need to login first.




0 Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

©2018 Poems Bucket | Best Website For Poems & Shayari

Log in with your credentials

Forgot your details?