• Zindagi k karwa me log
    Milte hai
    Bichhad jaate hain
    Na rakhna umid kisise itni
    Ae Dil
    Wakt rehte Apne bhi mukar jaate hain
    Oro se kya umid karni jaha
    Andhera hote hi
    Apne saaye bhi chhod jaate hain

  • ज़रा नफरत की ये दीवार,
    हटा कर तो देखो,
    सारी दुनियाँ में तुम्हें,
    ख़ुदा नजर आएगा !!

    अपनी जाति का अभिमान,
    भुला कर तो देखो,
    सारी कायनात से तुम्हें,
    प्यार हो जाएगा !!

    ज़रा धर्म के कुछ,
    तुम अर्थ तो सीखो,
    इंसान बनकर कैसे जीना,
    तभी समझ आएगा !!

    कोई भी धर्म हमे,
    नफरत नहीं सिखाता
    “सुखबीर” तू ये बात
    कब समझ पाएगा !!

  • मंजिल मिलेगी क्यों नहीं |
    सिर हार हो या जीत हो,
    कोई नहीं भयभीत हो |
    कर्तव्य पथ पर हम बढ़ें ,
    संघर्ष यदि कम हो नहीं |
    मंजिल मिलेगी क्यों नहीं ||
    जब लक्ष्य पर ही हो नजर ,
    अविरत बढ़ें अपनी डगर |
    जीवन समर हर जीत लें ,
    विश्वास यदि कम हो नहीं |
    मंजिल मिलेगी क्यों नहीं ||
    अविराम पथ पर बढ़ रहे ,
    अवरोध विचलित कर रहे |
    तूफान आते देख कर ,
    भयभीत यदि हम हों न…[Read more]

  • हरपल बदल रहा इंसान।
    नहीं किसी का मन निर्मल है,
    नहीं रहा कोई अरमान।
    बदल रही वसुधा भी अपनी,
    हरपल बदल रहा इंसान।।
    बोले बिना बताती स्थित,
    है दे रही हमें सन्देश।
    खग रहते हैं जब वृक्ष हरा,
    सूखा वृक्ष उड़े परदेश।
    पथ पर चलना आवश्यक है,
    रखना पर तुम इतना ध्यान।
    बदल रही वसुधा भी अपनी,
    हरपल बदल रहा इंसान।
    सोंच नहीं थिर आज किसीकी,
    ना जीवन का इक आधार।
    कोई नहीं…[Read more]

  • Gaurav Mathur posted an activity 1 month ago

    उसने पूछा मैं कौन ,हूं,
    तुम कौन हो,
    मैंने बोला तुम
    तुम सुर तुम संगीत हो,
    तुम सूरत से निकली पहली किरण हो!
    तुम कोयल की कू हो तुम संगीत का ताज हो,
    तुम चांद की चांदनी हो तुम तारों की बारात हो,
    तुम मेरे दिल की धड़कन हो,
    तुम गुलाब की खुशबू हो,
    तुम कोहिनूर सा ताज हो,
    तुम मेरे लिए जीने की वजह हो तुम मेरे दिल की धड़कन हो¡
    तुम खुदा की मूरत हो तुम कम ना…[Read more]

  • Vikas kumar giri posted an activity 1 month ago

    लालटेन की रोशनी में पढ़ के मैंने I.A.S
    बनते देखा है,
    बिजली की चकाचौंध में मैंने बच्चे
    को बिगड़ते देखा है,
    जिनमे होती है हिम्मत उनको कुछ
    कर गुजरते देखा है,
    जिनको होती है दिक्कत उनको हालात
    बदलते देखा है,
    फूक-फूक के रखना कदम मेरे दोस्तो,
    छिपकली से भी जयादा मैंने इंसानो को
    रंग बदलते देखा है,
    बहुत ईमानदारी से पढ़ के तैयारी करते हैं,
    मेरे देश क…[Read more]

  • संग गुज़री यादों को अब भुलाया नहीं जाता !
    दिल में जगे जज़्बातों को अब सुलाया नहीं जाता !!

    झेल लिए ढेरो सितम उसके हर घड़ी,हर डगर,
    मगर मासूम-सी उसकी सूरत देख बेवफ़ा उसे बुलाया नहीं जाता !
    जी करता कि ग़मों से भर दूँ झोली उसकी मैं,
    जबकि जो सच कहूँ तो पलभर भी उसे अब रुलाया नहीं जाता !!

    की हैं लाख नाकाम कोशिशें उससे दूरियाँ बनाने की…[Read more]

  • sarab ke har ek ghunt,
    khamoshi se pee rhe hai Hum..
    bas aapke naam ke sahare….,
    itne dino se jee rhe hai hum!

  • दीपक और माचिस का संबंध भी कितना अजीब है,
    माचिस हमेशा दीपक को जलाती है!
    और दीपक उसके जलन शहर कर हमेशा प्रकाश और खुशियां देता है,
    उसी तरह कुछ इंसानों में भी ऐसा संबंध होता है,
    कुछ दीपक के जैसे होते हैं कुछ माचिस के जैसे होते हैं!
    दीपक माचिस के हर जलन हर व्यंग को झेल कर प्रकाश और खुशियां देता है!
    पर दीपक माचिस के बिना अधूरा है
    बिन माचिस उसका को…[Read more]

  • मैं बैठा था और चप्पल को देख रहा था
    और सोचा
    जब इसकी जरूरत होती है तो सब इसको कितने प्यार से रखते हैं,
    पॉलिश करके रखते हैं,
    और जब इसकी जरूरत नहीं होती तो कहीं कोने पर बेकार से पड़ी रहती है,
    कभी-कभी ऐसी हालत इंसानों की भी होती है
    जरूरत पड़ने पर उसको पलकों पर रखते हैं
    वरना कोई पूछता ही नहीं

  • Kuch is kadar teri kami ka ehsaas hai
    Tu na hoke bhi tu paas hai
    Tera hona mahajj ek ehsaas hai
    Fir bhi
    Bahot khaas hai

  • ख्वाब देखे,न मुकम्मल हुए,
    नींद टूटी,न दूर हुआ दर्द-ए-दिली गिला|
    मगर तुम मिले तो ऐसे मिले,
    जैसे हो खुदा-ए-खास मिला||

  • नाच रहा है मोर

    हो गया है भोर,
    वर्षा हुई घनघोर;
    बाँधे प्रीति की डोर,
    नाच रहा है मोर।

    बयार चल रही चारों ओर,
    तृप्त हुआ अवनि का एक-एक छोर;
    बाँधे प्रीति की डोर,
    नाच रहा है मोर।

    उर में हर्ष नहीं है थोर,
    दादुर मचा रहे हैं शोर;
    बाँधे प्रीति की डोर,
    नाच रहा है मोर।

    धरणी कहती– आनंदित है पूत मोर,
    कहाँ छिप गया दीनकर चोर;
    बाँधे प्…[Read more]

  • Untouched loneliness of my heart stays forever
    No one’s have ever touched it
    Nobody gonna search it
    People in life just arrive and depart
    Loneliness stays forever

  • Ab kisi ka palbhar bhi guftagoo na karna uske rooth jaane sa lagta hai !!
    Kisiki beshumaar hasrat rakhna ab toh dil ko toot jaane sa lagta hai !!
    Zindagi ke is safar mein Koi Hamsafar maangoon toh daaman uska chhoot jaane sa lagta hai !!
    Uske virah mein chand lamhe bhi jeeoon toh ab yeh dam ghut jaane sa lagta hai !!
    Paa na sakoon uski wafa toh…[Read more]

  • Dhime dhime felato mara man no sunkaar
    Kone kahu?
    Nathi rahyo ema hawe koi rankaar
    Nahi koi aawe
    Nahi koi jaay
    Bus wyaapi rehse chau taraf andhkaar

  • Is kadar khudse bichhad Gaye he hum
    K dhund kar bhi milna namumkin sa ho Gaya hai
    Shayad mil bhi jaaye khudse to
    Pehchanna namumkin sa ho gaya hai
    Kya the or kya ho Gaye hai
    Har baar khud ko jaanna namumkin sa ho gaya hai

  • एक पगली अनजानी-सी !

    कॉलेज का वो पहला दिन,एक पल को आँखें चार हुईं,
    थे अनजाने एक-दूजे से वो,फिर अनचाही तक्रार हुई,
    वो एक पगली अनजानी-सी,जो प्यार उसीसे करती थी,
    थी दिल की कमज़ोर बहुत वो,इज़हार करने से डरती थी I

    कॉलेज उसका न आना,एक दिन भी न उसको गवारा था,
    उसकी नज़रों में वो सारे जहाँ से भी प्यारा था,
    वो एक पगली अनजानी-सी,जो दिन-रात उसी पर मरत…[Read more]

  • Kabhi yu bhi ho jaaye
    Tu bole or me sunu
    Keh ne ki koi baat na ho
    Fir bhi
    Dil sunne Ko Betaab ho
    Keh ne ko to raat ho
    Fir bhi
    Mere jivan me
    Teri aakho k aftaab ho
    Palke jhuki ho meri
    Fir bhi
    Teri maujudgi ka mehtaab ho

  • Kabhi koi ittefaq ho
    Tere dilme meri baat ho
    Me sochu tu samje
    Or
    Dil ki Dil se mulakat ho
    Baat na ho khatm yaha
    Ke
    Tere dard se mere palko pe barsaat ho
    Or
    Me wahi sochu jo tere dilki baat ho

  • Load More