All Posts By

Phir Kyon Mera Desh Jal Raha - Sad Desh Bhakti Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

हुक्मरानों के हुक्म पे,
गज़ब का शासन चल रहा !!
दिखती नहीं इन्हें कोई लौं यहाँ,
फिर क्यों मेरा देश जल रहा !!

Read More »
Kuch Badle Badle Se Nazar Aa Rahe Ho - Hindi Shayari
शेर
NiVo (Nitin Verma)

कुछ बदले बदले से नज़र आ रहे हो,
क्या है ऐसा जो हमसे छुपा रहे हो !!

Read More »
Tumko Chalte Rehna Hoga - Hindi Motivational Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

सफर ये इतना आसान नहीं,
बहुत कुछ सहना होगा !!
आएंगे-जाएंगे कई लोग मगर,
तुमको चलते रहना होगा !!

Read More »
Maati Ke Deepak Diwali - Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

तराश रहा वो इसी आस में,
काश! ये महीने भर का निवाला होगा !!
जलेगी लौं जब माटी के दीपक में,
घर किसी और के भी उजाला होगा !!

Read More »
Paas Se Hokar Toh Guzarti Hai - Hindi Love Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

एक मंज़िल, एक डगर है मगर,
विपरीत दिशा नज़रों को अखरती है !!
वो चली जाती है ‘नीवो’ दूर मगर,
हमेशा पास से होकर तो गुज़रती है !!

Read More »
Jis Baste Mein Sukoon Basta Tha - Bachpan Hindi Shayari
शेर
NiVo (Nitin Verma)

जिस बस्ते में सुकून बसता था,
आज वही बस्ता बोझ लगता है !!

Read More »
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

गैरों को दुःख नही इस बात का,
अब तलक क्यों जीत न पाया !!
उनको गम है इस बात का,
अब तलक क्यों हार न पाया !!

Read More »
Waakif Na Hai Wo Hakikat Se - Sad Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

दुआ मांग रहा देख कर उसे,
जो तारा अम्बर से टूट रहा !!
वाकिफ न है वो हकीकत से,
साथ उसका भी किसी से छूट रहा !!

Read More »
Pita Ji Apna Zakhm Chupaane Lage - Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

बिमारी का किस्सा क्या शुरू हुआ,
घर में सब अपना-अपना दुःख बताने लगे !!
“कल फिर जाना है दो वक़्त की रोटी कमाने”
सोचकर ये पिता जी अपना ज़ख्म छुपाने लगे !!

Read More »
Kirdaar Banta Hamara - Dussehra Hindi Shayari
शेर
NiVo (Nitin Verma)

किरदार बनता हमारा हमारे अच्छे या बुरे काम से !!
वरना ज्ञान में तो बड़ा था रावण प्रभु श्री राम से !!

Read More »

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in With Your Details

or    

Forgot your details?

Create Account