Father’s Day Special Shayari In Hindi

Father's Day Special Shayari In Hindi

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

Father's Day Special Shayari In Hindi

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

हाँ
जी
हाँ
मेरे पापा
कभी नही
*रोते*
मेरे सपने
मेरी ख्वाइशों
को पूरा करने के
लिए
पापा रात-रात भर
नही
*सोते*
हाँ पर पापा
कभी नही
*रोते*
टूटी चप्पल
फटा कुर्ता
फिर भी
गाँव में
ग़जब का है उनका
*रुतबा*
जीना सिखाता है मुझको
उनका *तजुर्बा*
देखो क्या
खूब खड़ी है
मेरी कामयाबी
की
इमारत ,
इसके पाये
मेरे पापा ने ही
*खोदे*
कोन कहता है
*डराती* है पापा की
आँखे,
मान,मर्यादा,संस्कार
अनुशासन सिखाती
है पापा की
*आँखे*
कन्धे पर बिठा के
सैर कराते है
दुनिया की
*दुनियादारी* सिखाती
है पापा की
*आँखे*
हाँ जी
हाँ
मेरे पापा कभी
नही
*रोते*
अब आँखे धुंधलाई है
कमर झुक गयी है
उनकी
पर
अब भी
मेरी ख्वाइशों
का बोझ
*ढोते*
हाँ
जी हाँ
मेरे पापा
कभी नही
*रोते*
आज भी मेरी फरमाइशें
*कम* नही होती
तंगी के आलम में भी
पापा की आँखे कभी*नम*नही होती
माँ की तरह
कभी सीने से
नही लगाते
कभी मेरे माथे
को नही चूमते
पर मेरे पापा कभी
मेरी जरुरतो को
कभी नही
*भूलते*
हाँ
जी हाँ
मेरे पापा
कभी नही
*रोते*
बहुत मशहूर हूँ
बड़े चर्चे है आज
मेरी *अदायगी* के
पर
मुझको मेरे पापा की
वो *अदायगी* नही आती
नाम तो मेरा
पूरा गाँव जानता है
पर कहते सभी
मुझको
बापू का *छोरा* ही है
ये नाम
ये पहचान
और ये शोहरत
कुछ न होता
अगर पापा न
*होते*
कुमार रवि हिन्द

Father's Day Special Shayari In Hindi

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Father's Day Special Shayari In Hindi

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Haan Ji
Haan
Mere Papa
Kabhi Nahi
*rote*
Mere Sapne Khwaishon
Ko Poora Karne Ke
Liye
Papa
Raat-raat Bhar
Nahi
*sote*
Haan Par Papa
Kabhi Nahi
*rote*
Tooti Chappal
Fata Kurta
Phir Bhi
Gaav Mein
Gajab Ka Hai Unka
*rutba*
Jeena Sikhata Hai Mujhko
Unka *tajurba*
Dekho Kya
Khoob Khadi Hai
Meri Kamyabi
Ki
Imarat
Iske Paaye
Mere Papa Ne Hi
*khode*
Kaun Kehta Hai
*darati* Hai Papa Ki
Aankhein,
Maan, Maryada, Sanskar
Anushasan Sikhati
Hai Papa Ki
*aankhein*
Kandhe Par Bitha Ke
Ser Karate The
Duniya Ki
*duniyadari* Sikhati
Hai Papa Ki
*aankhein*
Haan Ji
Haan
Mere Papa Kabhi
Nahi
*rote*
Ab Aankhein Dhundhlayi Hai
Kamar Jhuk Gayi Hai
Unki
Par
Ab Bhi
Meri Khwaishon
Ka Bojh
*dhote*
Haan
Ji Haan
Mere Papa
Kabhi Nahi
*rote*
Aaj Bhi Meri Farmaishein
*kam* Nahi Hoti
Tangi Ke Aalam Mein Bhi
Papa Ki Aakhein Kabhi *nam* Nahi Hoti
Maa Ki Tarah
Kabhi Seene Se
Nahi Lagate
Kabhi Mere Maathe
Ko Nahi Choomte
Par Mere Papa Kabhi
Meri Jaroorato Ko
Kabhi Nahi
*bhoolte*
Haan
Ji Haan
Mere Papa
Kabhi Nahi
*rote*
Bahut Mashoor Hoon
Badhe Charche Hai Aaj
Meri *adayegi* Ke
Par
Mujhko Mere Papa Ki
Wo *adayegi* Nahi Aati
Naam To Mera
Poora Gaav Jaanta Hai
Par Kehte Sabhi
Mujhko
Baapu Ka *chora* Hi Hai
Ye Naam
Ye Pehchaan
Aur Ye Shohrat
Kuch Na Hota
Agar Papa Na
*hote*
~Kumar Ravi Hind

इस पोस्ट के लेखक

1
Leave a Reply

avatar
1 Comment threads
0 Thread replies
0 Followers
 
Most reacted comment
Hottest comment thread
1 Comment authors
Rakesh Gupta Recent comment authors
  Subscribe  
newest oldest
Notify of
Rakesh Gupta
Guest

Very Nice Shayari Status on Father Day. Aap Sabhi Ko Happy Father Day ki shubhkamnaye.

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

Forgot your details?