इतिहास खुद से लिखना होगा

इतिहास खुद से लिखना होगा

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

दर्ज़ी नही कोई ज़ख्म सिलने को,
हर ज़ख्म खुद से सिलना होगा !!

जानना है अगर अपने आप को,
रोज़ तुम्हें खुद से मिलना होगा !!

कब तक कोसोगे! कीचड़ उछालने वालो को,
कमल सा उसमें खिलना होगा !!

कोरा कागज़ है ज़िन्दगी प्यारे,
इतिहास खुद से लिखना होगा !!
© नीवो

Itihaas Khud Se Likhna Hoga

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Darji Nahi Koi Zakhm Silne Ko,
Har Zakhm Khud Se Silna Hoga !!

Jaanna Hai Agar Apne Aap Ko,
Roz Tumhe Khud Se Milna Hoga !!

Kab Tak Kosogey! Keechad Uchaalne Walo Ko,
Kamal Sa Usme Khilna Hoga !!

Kora Kagaz Hai Zindgi Pyaare,
Itihaas Khud Se Likhna Hoga !!
© Nivo

इस पोस्ट के लेखक

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in With Your Details

or    

Forgot your details?

Create Account