नवीनतम पोस्ट

Tej Dhoop Mein Tadapte Bhookhe Pet Ko - Lockdown Migrants Majdoor Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

तेज धूप में तड़पते भूखें पेट को

तेज धूप में तड़पते भूखें पेट को,
राह-राह बड़े पेड़ पर ऊँचे लगे खजूर दिखाए !!
ख़जूर तक पहुँच न सके हाथ जिनके,
पाठ उनको भी आत्मनिर्भर का हुजूर सिखाए !!

Read More »
Rahe Dafan Mera Ishq Mere Ander - Sad Love Hindi Shayari
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

रहे दफन मेरा इश्क़ मेरे अंदर

कैसे पलटने दूँ तुम्हें, अपनी मोहब्बत के पन्ने,
जनाब ये दिल की बात है,अखबार थोड़े हैं !!
रहे दफन मेरा इश्क़ मेरे अंदर, तो अच्छा हैं,
मातम का माहौल हैं भीतर, त्यौहार थोड़े हैं !!

Read More »
Ham Majdoor Hai Sahib - Hindi Shayari Kavita Indian Labour In Lockdown
शायरी
Sukhbir Singh Alagh

हम मजदूर है साहिब

वक़्त ऐसा आया कि
सिर से छत छीन ली गई !!
बच्चे हमारे भूखे है
इन सरकारों से
दो वक़्त की रोटी तक ना दी गई !!
आज दिल वापस
गाँव जाने को जरूर है साहिब !!
हम मजदूर है साहिब !!
किस्मत के आगे मजबूर है साहिब !!

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »

ऑडियो-विडियो

इश्क़. मोहब्बत. इबादत

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account