नवीनतम पोस्ट

Yahi Khitaab Kaafi Hai - Sad Hindi Shayari
शायरी
seervi prakash panwar

यही ख़िताब काफ़ी है

ये जो आख़िरी है, वो ही निशान काफ़ी है…
हमारे बदले का सिर्फ, यही हिसाब काफ़ी है !!
क्यो बुलवाते हो गैरों से कि तुम हो…
हमे मारने का, यही ख़िताब काफ़ी है !!

Read More »
Dil Ki Khwaishein Mujhe - Hindi Life Shayari
शेर
Lokesh Gautam(Keshav)

दिल की ख्वाहिशें

दिल की ख्वाहिशें मुझे कहाँ तक उड़ाएगी,
ये आसमान की चाहत, ज़मीन भी छुड़ाएगी !!

Read More »
Dost Ka Saath Chhod Diya - Dosti Hindi Sad Shayari
शायरी
Jayen PARESHBHAI sojitra

दोस्त का साथ छोड़ दिया

एक नये प्यार ने पुरानी
दोस्ती का भरोसा तोड़ दिया,
एक बेवफा लड़की के लिए बचपन
के दोस्त का साथ छोड़ दिया !!

Read More »
Ghar Dikhta Shmshaan Hai - Domestic Violence Greh Kaleh Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

घर दिखता श्मशान है

चार दिवारी में रहते, चार लोग बेजान है,
शोर होता है फिर भी सब कुछ बड़ा सुनसान है !!
बात कोई करता नहीं सब लड़ने को तैयार है,
कब्र कोई दिखती नहीं पर घर दिखता श्मशान है !!

Read More »
Phir Garib Khoon Ke Aansoo Ro Raha - Lockdown Migrants Hindi Shayari
शायरी
Khwabon.ka.samndar

फिर गरीब खून के आँसू रो रहा

अमीर तो है महफूज़ यहाँ,
अपनों के संग समय बिता रहे !!
गरीब भूखे पेट कहाँ जाए,
जो सड़कों पर मजबूर चिल्ला रहे !!

एक वक़्त की रोटी के लिए,
ये गरीब हर रोज़ तड़पता है !!
मुस्कुरा कर फिर भी देश को,
खुद से पहले रखता है !!

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »

ऑडियो-विडियो

इश्क़. मोहब्बत. इबादत

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account