नवीनतम पोस्ट

Ghar Ke Gaddaaro Ka Safaya Ho Toh Baat Bane - Desh Bhakti Hindi Kavita
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

घर के गद्दारों का सफाया हो तो बात बने

सरहद पर तो हम दुश्मन से निपट ही लेंगे यारो,
पहले घर के गद्दारों का सफाया हो तो बात बने।

करते हैं जो चुगली अपने ही देश की बाज़ार में,
इन्हें बाज़ार से बाहर निकाला जाए तो बात बने।

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Ik Dhool Hai Jo Galatfehmi Ki - Sad Life Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

इक धूल है जो गलतफ़हमी की

जो हुई खता
चलो! सब गुनाह हम एतराफ़ करते है,
इक धूल है जो गलतफ़हमी की
आओ! इसे भी साफ़ करते है !!

Read More »
Maa Tum Kitni Pyaari Ho - Maa Hindi Kavita Shayari
शायरी
Shivnitya (Khwabon.ka.samndar)

माँ तुम कितनी प्यारी हो

सपनों को अपने तुम मन‌‌ में छुपा लेती हो,
मेरी एक मुस्कान देख ख़ुशी पा लेती हो,
हर ज़िम्मेदारी को बखूबी निभा‌‌ लेती हो,
माँ तुम कितनी प्यारी हो सब सँवार देती हो!

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Ram Aur Rahim Ko Shikayat Hai - Hindu Muslim Ekta Kavita Shayari
शायरी
Rizwan Riz

राम और रहीम को शिकायत है

राम को रहीम से और
रहीम को राम से
शिकायत है।
होनी भी चाहिए क्योंकि
ये दोनों बरसों-बरस के
साथी रहे हैं।
ऐसे साथी जिनको एक-दूसरे से
अलग कर पाना मुश्क़िल है।
उतना ही मुश्क़िल, जितना
ख़ुद को ख़ुद से अलग करना।

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Shiksha Aajakl Daulat Ke Hawale Hai - Garib Ko Shiksha Education Right Hindi Kavita
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

शिक्षा आजकल दौलत के हवाले हैं

हालातों के मारे ये कल के उजाले हैं।
शिक्षा आजकल दौलत के हवाले हैं।

कैसे पड़ेगा बच्चा, अगर गरीब होगा,
अमीरों को ही तो पढ़ना नसीब होगा,
दिल इस कारोबार में कितने काले हैं।
शिक्षा आजकल दौलत के हवाले हैं।

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »

ऑडियो-विडियो

इश्क़. मोहब्बत. इबादत

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account