फिर एक साल हो गया

फिर एक साल हो गया

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

महज़ कुछ तारीख़े बीत जाने से कैसे मलाल हो गया,
पूरा करने की है चाहत तो अधूरा कैसे ख्याल हो गया !!

कब तलक लगे रहोगे खुश करने में सभी लोगों को,
इनका तो बादलों से भी तरह-तरह का सवाल हो गया !!

उतारी कश्ती जब समंदर में तो बहुत भवंडर मिले,
पार करके चुनौतियों को मैं खुद का खुद ढाल हो गया !!

गर कर न सका बीते दिनों कुछ किसी के लिए भी,
पर मेरे ढलते सूरज से भी बेरंग सा शहर लाल हो गया !!

खैर हो मुकम्मल जुस्तुजू या न भी हो तो गम नही,
कर-कर के मदद लोगो की मैं नेक-खिसाल हो गया !!

मैं बेपरवाह बेवक़्त मग्न कोयले से हीरा बनाने में,
मगर लोगो को लगे ‘नीवो’ यूँ ही फिर एक साल हो गया !!
©नीवो

कुछ शब्दों के अर्थ :
मलाल – Regret || ढाल – Shield || जुस्तुजू – Search || नेक – खिसाल – Good Natured

Phir Ek Saal Ho Gaya

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Mehez Kuch Taarikhey Beet Jaane Se Kaise Malaal Ho Gya,
Poora Karne Ki Hai Chahat To Adhoora Kaise Khyaal Ho Gya !!

Kab Talak Lage Rahoge Khush Karne Mein Sabhi Logo Ko,
Inka Toh Badalo Se Bhi Tarah-tarah Ka Sawal Ho Gya !!

Utaari Kashti Jab Samander Mein Toh Bahut Bhavander Mile,
Paar Karke Chunautiyo Ko Main Khud Ka Khud Dhaal Ho Gya !!

Gar Kar Na Saka Beete Dino Kuch Kisi Ke Liye Bhi,
Par Mere Dhalte Suraj Se Bhi Berang Sa Shehar Laal Ho Gya !!

Kher Ho Mukammal Justuju Ya Na Bhi Ho Toh Gam Nahi,
Kar Kar Ke Madad Logo Ki Main Nek-khisaal Ho Gya !!

Main Beparwah Bewaqt Magn Koyele Se Heera Banane Mein,
Magar Logo Ko Lage ‘Nivo’ Yuhi Phir Ek Saal Ho Gya !!
©Nivo

Kuch Shabdo Ke Matlab:

Malaal – Regret || Dhaal – Shield || Justuju – Search || Nek-Khisaal – Good Natured

इस पोस्ट के लेखक

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in With Your Details

or    

Forgot your details?

Create Account