पिता जी अपना ज़ख्म छुपाने लगे

पिता जी अपना ज़ख्म छुपाने लगे

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

बिमारी का किस्सा क्या शुरू हुआ,
घर में सब अपना-अपना दुःख बताने लगे !!
“कल फिर जाना है दो वक़्त की रोटी कमाने”
सोचकर ये पिता जी अपना ज़ख्म छुपाने लगे !!
©नीवो

Pita Ji Apna Zakhm Chupaane Lage

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Bimaari Ka Kissa Kya Shuru Hua,
Ghar Mein Sab Apna-Apna Dukh Batane Lage !!
“Kal Phir Jana Hai Do Waqt Ki Roti Kamane”
Sochkar Ye Pita Ji Apna Zakhm Chupaane Lage !!
©Nivo

इस पोस्ट के लेखक

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in With Your Details

or    

Forgot your details?

Create Account