Sandesh – Love Letter In The Form Of Shayari

प्यार ने, प्यार से, प्यार को, यार को,
अपने दिलदार को, भेजा है सन्देश,
अपने दिलदार को…………..

संदेशा कुछ यूँ हैं लिखा,
रातभर चाँद में तू ही मुझको दिखा।
चाँद भी कह रहा मुझसे आकर ये,
प्रेम में अपना तू जीवन बिता।
प्रेम का ऐसा फिर जाम दिया
बोला- भेज दे अपने तलबगार को…….
अपने दिलदार को……….

आगे लिखा है वो रातों का जगना,
तेरी ही यादों में पल-2 का मरना।
बंद करके आँखें ना नींद आती,
आँखों में है बस तेरा ही सपना।
नींद बोली- भेज दे अपने सब,
सपनों के इस अम्बार को।……………
अपने दिलदार को………………

आगे की बात क्या तुमसे कहूँ,
भीड़ में भी खोया सा रहूँ।
हँसता हुआ मेरा चेहरा मगर,
दिल से मैं रोया सा रहूँ।
रोते रोते जो आंसू गिरे आँख से,
बोले- भेज दे अश्रु की इस धार को।……….
अपने दिलदार को…………..

संदेश का ये अंतिम चरण है,
तेरे बिना जीवन एक रण है।
इस रण को मैं जीतूँगा कैसे,
तू ही तो मेरी जीवन किरण है।
ये जीवन भी अब है कह रहा,
भेज दे अपने सब संसार को।……………..
अपने दिलदार को……………….

~देवांश राघव

Pyaar ne, pyaar se, pyaar ko, yaar ko,
apne dildaar ko, bheja hai sandesh
apne dildaar ko !!

sandesh kuch yu hai likha,
raatbhar chand mein tu hi mujhko dikha !!
chand bhi keh rha mujhse aakar ye,
prem mein apna tu jeevan bita !!
prem ka aisa phir jaam diya,
bola- bhej de apne talabdar ko,
apne dildaar ko !!

aagey likha hai wo raato ka jaagna,
teri hi yaado mein pal pal ka marna !!
band karke aankhe na neend aati,
aankho mein hai bas tera hi sapna !!
neend boli bhej de apne sab,
sapno ke is ambaar ko,
apne dildaar ko !!

Aagey ki baat kya tumse kahu,
bheed mein bhi khoya sa rahu !!
hasta huya mera chehra magar,
dil se main roya sa rahu !!
rote rote jo aansoo gire aankh se,
bole- bhej de ashru ki is dhaar ko,
apne dildaar ko !!

sandesh ka ye anteem charan hai,
tere bina jeevan ek ran hai !!
is ran ko main jeetuga kaise,
tu hi to meri jeevan ki kiran hai !!
ye jeevan bhi ab hai keh rha,
bhej de apne sab sansaar ko,
apne dildaar ko !!

Written By: Devansh Raghav

इस पोस्ट के लेखक

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

Forgot your details?