Aashiki Ko Apni Kar Du Buland Itna Ki – Love Shayari

आशिकी को अपनी कर दूँ बुलंद इतना कि

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

तुम पास तो हो
पर साथ नही मेरे
चाँदनी में
भी क्यूँ
पसरे है ये
अमावसी अँधेरे
माफ़ हो गर गुस्ताखी
आशिकी को अपनी
कर दूँ बुलंद इतना
कि
बिन फेरे ही
हो जाओ तुम मेरे…
~विविध जय

Aashiki Ko Apni Kar Du Buland Itna Ki

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Tum Paas To Ho
Par Saath Nahi Mere
Chandni Mein
Bhi Kyon
Pasre Hai Ye
Amavasi Andhere
Maaf Ho Gar Gustakhi
Aashiki Ko Apni
Kar Du Buland Itna
Ki
Bin Fere Hi
Ho Jao Tum Mere…
~Vividh Jay

vividhjay
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account