पोएम्स बकेट

आज की उत्तम पंक्तियाँ

  • कोई ज़रा मुझे ये बता दे,
    मंदिर और मज़्ज़िद की हवा अलग है क्या ?
    ©नीवो

  • यह कैसा कानून!
    जहाँ ‘ज़ुल्म’ बेखौफ हर सीमा लाँघ रहा,
    और ‘इंसाफ’ सड़कों पर भीख माँग रहा !!
    ©नीवो

  • कोई न आया ठहर जाने के लिए…
    ये दिन, महीने, साल भी आए
    गुज़र जाने के लिए…
    ©नीवो

नवीनतम पोस्ट

Par Abhi Toh Asli Udaan Baaki Hai - Hindi Motivational Shayari
शायरी
devansh raghav

पर अभी तो असली उड़ान बाकी है

नाप लिए हैं कुछ और जर्रे बेशक,
पर अभी तो पूरा आसमान बाकी है !!
वो सोचते हैं कि थक गया है परिंदा,
पर अभी तो असली उड़ान बाकी है !!

Read More »

मन मुताबिक शायरियाँ

विशेष लेखक

  • “अश्क आंखों से छलक गया,
    दे दो पनाह मुसाफ़िर को, किसी धाम की तरह !!
    देखो ज़रा ! सूरज भी ढल गया,
    आ जाओ तुम मिलने, फिर उस शाम की तरह !!”

  • “तेरी हुस्न-ए-तारीफ़
    जो हम किया करते है ,
    तेरी सूरत पर नहीं,
    तेरी सीरत पर किया करते है…”

बधाईयाँ संग्रह

लेख

इन पर हमारे साथ जुड़े

ऑडियो-विडियो

इश्क़. मोहब्बत. इबादत

Made with in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in With Your Details

or    

Forgot your details?

Create Account