Gau Ko Rashtr Maa Banayege – Politics Shayari

गऊ को राष्ट्र - माँ बनायेंगे

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

मुद्दे तो अक्सर विपक्ष में ही उठते है,
पक्ष आये तो मिलकर सब ही लूटते है !!
घूमे थे जो गली – गली कि,
गऊ को राष्ट्र – माँ बनायेंगे,
आज वे सब के सब
खुद अपने में ही घुटते है !!
~विविध जय चौबीसा

Gau Ko Rashtr Maa Banayege

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Mudde To Aksar Vipaksh Mein Hi Udhte Hai,
Paksh Aaye To Milkar Sab Hi Lootte Hai !!
Ghoome The Jo Gali Gali Ki,
Gau Ko Rashtrmaa Banayege,
Aaj Ve Sab Ke Sab
Khud Apne Mein Hi Ghutte Hai !!
~Vividh Jay Choubisa

vividhjay
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account