Jo Apne Vichaar Prakat Nahi Karte – Sad Life Shayari

जो अपने विचार प्रकट नहीं करते

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

कुछ ख्वाब जिन्दगी में,
हमेशा अधूरे रह जाते हैं !!

अरे दूसरों को क्या समझाऊ मैं,
अपने ही समझ नहीं पाते हैं !!

अरे हमसे भी तो पूछ कर देखो,
हम क्या चाहते हैं !!

“सुखबीर” जो अपने विचार प्रकट नहीं करते,
वो जीते जी, मर जाते हैं !!
~सुखबीर सिंह

Jo Apne Vichaar Prakat Nahi Karte

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Kuch Khwab Zindgi Mein,
Hamesha Adhoore Reh Jaate Hai !!

Arey Doosro Ko Kya Samjhau Main,
Apne Hi Samajh Nahi Paate Hai !!

Arey Hamse Bhi To Pooch Kar Dekho,
Ham Kya Chahte Hai !!

“Sukhbir” Jo Apne Vichaar Prakat Nahi Karte,
Vo Jeete Ji, Mar Jaate Hai !!
~Sukhbir Singh

Sukhbir Singh Alagh
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account