Kahan Dhoonda Tumko Aur – Hindi Love Shayari

कँहा ढूंढा तुमको और

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

कँहा ढूंढा तुमको और कँहा पर पाया हैं,
मन्दिर, मस्जिद नहीं वो आप में समाया है !!
मंजूर नही मुझको किसी के आगे सर झुकाना,
पर आपके सजदे में मैंने खुद को झुकाया हैं !!
~कुमार रवि हिन्द

Kahan Dhoonda Tumko Aur

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Kahan Dhoonda Tumko Aur Kahan Par Paya Hai,
Mandir, Masjid Nahi Wo Aap Mein Samaya Hai !!
Manjoor Nahi Mujhko Kisi Ke Aagey Sir Jhukaana,
Par Aapke Sajde Mein Maine Ko Jhukaya Hai !!
~Kumar Ravi Hind

Kumar ravi hind
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account