न मुस्कुराने को जी चाहता है

न मुस्कुराने को जी चाहता है,
न आँसू बहाने को जी चाहता है !!
लिखूँ तो क्या लिखूँ तेरी याद में,
बस तेरे पास लौट आने का जी चाहता है !!

Na muskurane ko ji chahta hai,
na aansoo bahane ko ji chahta hai !!
likhu to kya likhu teri yaad mein,
bas tere paas laut aane ka ji chahta hai !!

PoemsBucket
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account