सोच रहा हूँ एक मेडिकल

दर्द ही दर्द हैं इश्क की रहो में !
सोच रहा हूँ,
एक मेडिकल स्टोर खोल लू !
खूब चलेगा !! 😛 😀

Dard hi dard hai ishq ki raho mein !
soch rha hoon,
ek medical store khol lu !
khoob chalega ! 😛 😀

PoemsBucket
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account