उन महिलाओ की तरह होते है जो

फेसबुक पर “कृपया मुझे किसी पोस्ट में टैग न करे”
लिखने वाले उन महिलओं की तरह होते है. जो होली खेलते देवरों के बीच बार-बार जाकर कहती है
“मुझे रंग मत लगाना ! एलर्जी है”

Facebook par “kripya mujhe kisi post mein tag na kare”
Likhne wale un mahilao ki tarah hote hai jo holi khelte devaro ke beech baar-baar jakar kehti hai
“mujhe rang mat lagana ! allergy hai”

PoemsBucket
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account