जिंदगी क्या है मत पूछों

जिंदगी एक अभिलाषा है,
अजब इसकी परिभाषा है !!
जिंदगी क्या है मत पूछो,
संवर गई तो जन्नत और,
बिखर गयी गई तो बस एक तमाशा है !!

Zindagi ek abhilasha hai,
ajab iski paribhasha hai !!
zindagi kya hai mat poocho,
sawar gayi to jannat aur,
bikhar gyi to bas ek tamasha hai !!

PoemsBucket
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account