बहुत थे अधूरे ख़त मेरे

बहुत थे अधूरे ख़त मेरे

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

बहुत थे अधूरे ख़त मेरे,
जो मैंने लिखे और छुपा दिए !
उनकी याद में जलते थे जो चराग़ कभी,
आँशुओ तले न जाने, कब मैंने बुझा दिए…
~गिरीश राम आर्य

Bahut The Adhoore Khat Mere

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Bahut The Adhoore Khat Mere,
Jo Maine Likhe Aur Chupa Diye !
Unki Yaad Mein Jalte The Jo Chirag Kabhi,
Aansuo Tale Na Jaane, Kab Maine Bhuja Diye…
~Girish Ram Aryah

Girish Ram Aryah
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account