ख़्वाबों में सही मुलाकात रहे

ख्वाबों में सही मुलाकात रहें

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

तेरी तिलिस्मी निगाहों का भरम,
मुझे मोहब्बत के कूचे तक ले आया !!
अब नफरत हो या इश्क की दस्तक,
तेरे अंजुमन में दिल दे आया !!

चन्द रोज ही सही लेकिन,
ये मोहब्बत का ख्याल आबाद रहे !!
तुम मेरी इबादत बन जाओ,
ख्वाबों में सही मुलाकात रहें !!

गहरे से तुम्हारे नैनो में,
मेरे इश्क की नाव उतर जाये !!
अल्लाह तुम्हारे दिल को भी,
मेरे मोहब्बत का रोग लग जाये !!
~श्वेता पाण्डेय

Khwabo Mein Sahi Mulakat Rahe

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Teri Tilismi Nigaoho Ka Bharam,
Mujhe Mohabbat Ke Kooche Tak Le Aya !!
Ab Nafrat Ho Ya Ishq Ki Dastak,
Tere Anjuman Mein Dil De Aya !!

Chand Roz Hi Sahi Lekin,
Ye Mohabbat Ka Khayal Aabaad Rahe !!
Tum Meri Ibadat Ban Jao,
Khwabo Mein Sahi Mulakat Rahe !!

Gehre Se Tumhare Naino Mein,
Mere Ishq Ki Naav Utar Jaaye !!
Allah Tumhare Dil Ko Bhi,
Mere Mohabbat Ka Roj Lag Jaaye !!
~Shweta Pandey

Shweta Pandey
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account