रूठ जाना सा लगता है

रूठ जाना सा लगता है

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

अब किसी का,
पल भर भी गुफ्तगू न करना,
उसका रूठ जाना सा लगता है !!

किसी की बेशुमार हसरत रखना,
अब तो,
दिल का टूट जाना सा लगता है !!

जिंदगी के इस सफ़र में,
कोई हमसफ़र मांगू तो,
दामन उसका छूट जाना सा लगता है !!

उसके विरह में,
चंद लम्हे भी जीऊँ तो,
अब ये दम घुट जाना सा लगता है !!

पा न सकूं उसकी वफ़ा तो,
ये हमको,
खुद का लौट जाना सा लगता है !!
~सचिन अ. पाण्डेय

Rooth Jaana Sa Lagta Hai

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Ab Kisi Ka,
Palbhar Bhi Guftagoo Na Karna,
Uska Rooth Jaana Sa Lagta Hai !!

Kisi Ki Beshumaar Hasrat Rakhna,
Ab Toh,
Dil Ka Toot Jaana Sa Lagta Hai !!

Zindagi Ke Is Safar Mein,
Koi Hamsafar Maangoon Toh,
Daaman Uska Chhoot Jaana Sa Lagta Hai !!

Uske Virah Mein,
Chand Lamhe Bhi Jeeoon Toh,
Ab Yeh Dam Ghut Jaana Sa Lagta Hai !!

Paa Na Sakoon Uski Wafa Toh,
Yeh Hamko,
Khud Ka Lut Jaana Sa Lagta Hai !!
~Sachin A. Pandey

Sachin Brahmvanshi
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account