साँसों की अनकहीं गुफ्तगू

साँसों की अनकही गुफ़्तगू

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

तू ही है आरज़ू,
तू ही है मेरी जुस्तजू !
हम दोनों के दरमियाँ है
साँसों की अनकही गुफ़्तगू !
~सचिन अ. पाण्डेय

Saanso Ki Ankahi Guftgu

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Tu Hi Hai Aarzoo,
Tu Hi Hai Meri Justju !
Ham Dono Ke Darmiyaan Hai,
Saanso Ki Ankahi Guftgu !
~Sachin A. Pandey

Sachin Brahmvanshi
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account