तू ज़िन्दगी है मेरी

Tu Zindgi Hai Meri - Life Partner Love Hindi Shayari

www.PoemsBucket.com

मैं तुझे खोना नहीं चाहती,
तू ज़िन्दगी है मेरी…
एक पल के लिए नही,
एक लम्हें के लिए नही…
ज़िन्दगी भर के लिए,
तू ज़िन्दगी है मेरी…

माना मैं अंजान हूँ,
इश्क़ से तेरे शायद…
बस इतनी सी खता मैंने की,
पर है तुझको भी मालूम…
तू बंदगी है मेरी,
तू ज़िन्दगी है मेरी…
©सिद्रातुल मुन्तहा

Tu Zindgi Hai Meri - Life Partner Love Hindi Shayari

www.PoemsBucket.com

Main Tujhe Khona Nahin Chahti,
Tu Zindgi Hai Meri…
Ek Pal Ke Liye Nahin,
Ek Lamhein Ke Liye Nahin…
Zindgi Bhar Ke Liye,
Tu Zindgi Hai Meri…

Mana Main Anjaan Hu,
Ishq Se Tere Shayad…
Bas Itni Si Khta Maine Ki,
Par Hai Tujhko Bhi Maalum…
Tu Bandgi Hai Meri,
Tu Zindgi Hai Meri…
©Sidratul Muntaha

Sidratul muntaha
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account