ये एक पन्ना था अभी तो पूरी किताब बाकी है

कई जीत बाकी है , कई हार बाकी है ,
अभी तो जिंदगी के सार बाई बाकि है !!
यहाँ से चले है नहीं मंजिल के लिए ,
ये एक पन्ना था , अभी तो
पूरी किताब बाकी है !!

Kai jeet baaki hai, kai haar baaki hai,
abhi to zindgi ka saar baaki hai !!
yahan se chale hai nahi manzil ke liye,
ye ek panna tha, abhi to
poori kitaab baaki hai !!

PoemsBucket
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

1 Comment
  1. Ashu 8 महीना ago

    Is this your quote written by you ?

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account