Asli Ravan Toh Dimaag Mein Pal Rha Hai – Dussehra Hindi Shayari

असली रावण तो दिल ओ दिमाग में पल रहा है

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

मेरा तो बस एक कागज़ का पुतला जल रहा है,
असली रावण तो दिल ओ दिमाग में पल रहा है !!

Mera toh bas ek kagaz ka putla jal raha hai,
asli ravan toh dil-o-dimaag mein pal raha hai !!

PoemsBucket<span class="bp-verified-badge"></span>
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account