Baitha Huya Hu – Sad Love Shayari

बैठा हुआ हूं

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

एक सिराहना लगाकर सर तले,
अबोध सा लेटा हुआ हूं !!
बहुत कुछ तितर-बितर है
फिर भी दीवार से ऐंठा हुआ हूं !!
कलम सामने है पुकार रही है,
उसको थामने के लिए,
और एक मैं हूं लिखने के लिए
किसी और के भरोसे बैठा हुआ हूं !!
~कविश कुमार

Baitha Huya Hu

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Ek Sirhana Lagakar Sar Tale,
Abodh Sa Leta Huya Hoon !!
Bahut Kuch Titar-bitar Hai
Phir Bhi Diwar Se Entha Huya Hoon !!
Kalam Saamne Hai Pukaar Rahi Hai,
Usko Thaamne Ke Liye,
Aur Ek Main Hoon Likhne Ke Liye
Kisi Aur Ke Bharose Baitha Huya Hoon !!
~Kavish Kumar

kavish kumar
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account