Ehsaas – Sad Love Shayari

एहसास

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

जब भी रात को नींद नही आती है,
ये कलम अपने आप चलती जाती है !!
ये स्याही भी तुमको याद करती है,
शायद इसे भी तुम्हारी याद सताती है !!
ये उंगलिया भी चलती है खुद की ही हथेलियो पर,
ये भी तुम्हारे अहसासो की बार-बार याद दिलाती है !!
~कविश कुमार

Jab bhi raat ko neend nahi aati hai,
ye kalam apne aap chalti jaati hai !!
ye syaahi bhi tumko yaad karti hai,
shayad ise bhi tumhari yaad stati hai !!
ye ungliya bhi chalti hai khud ki hi hatheliyo par,
ye bhi tumhare ehsaaso ki baar-baar yaad dilati hai !!
~Kavish Kumar

kavish kumar
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account