एग्जाम आते ही किताबों में घुसा रहता है

एक्साम्स आते ही किताबों में घुसा रहता है

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

मम्मी – तू पूरा साल पढ़ता नहीं लेकिन एक्साम्स आते ही किताबों में घुसा रहता है !
बेटा – क्योंकि लहरों का सुकून तो सभी को पसंद है,
लेकिन तूफानों में कश्ती चलाने का मज़ा ही कुछ और है !!

!! दे चप्पल !! दे लात !! दे चप्पल !! 😛

Exams Aate Hi Kitabo Mein Ghusa Rehta Hai

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Mummy-Tu Poore Saal Padhta Nahi Lekin
Exams Aate Hi Kitaabo’n Mein
Ghusa Rehta Hai !
Beta-Kyonki Lehro Ka Sukoon Toh
Sabhi Ko Pasand Hai, Lekin Tufaano Mein
Kashti Chalane Ka Maza Hi Kuch Aur Hai !!

!! De Chappal !! De Laat !! De Chappal 😛

PoemsBucket<span class="bp-verified-badge"></span>
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account