रोज़ मंज़िल की तलाश में

रोज़ मंज़िल की तलाश में

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

रोज़ मंज़िल की तलाश में,
न जाने कहाँ-कहाँ पहुँच जाता हूँ !!
लौटता नहीं कभी खाली हाथ,
थोड़ा ज़ख्म, थोड़ा मलहम साथ ख़रोंच लाता हूँ !!
©नीवो

Roz Manzil Ki Talaash Mein

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Roz Manzil Ki Talaash Mein,
Na Jaane Kahan Kahan Pahuch Jaata Hu !!
Lauta Nahi Kabhi Khaali Haath,
Thoda Jhkm, Thoda Malham Saath Kharoch Laata Hu !!
©Nivo

NiVo (Nitin Verma)
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account