तेरी याद आई है

तेरी याद आई है

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

आज फिर तेरी याद हमें आईं हैं,
लबों पे वही मुस्कुराहट फिर लाई हैं,
कैसे भूलता हर उस मुलाकात को,
जब तू छुपकर मुझसे मिलने आई हैं,
आज फिर तेरी याद हमें आई हैं !!

सुबह की हर ओस की बूँद ने हमें,
तेरे चहरे की चमक याद दिलाई हैं,
लहराती, बलखाती पेड़ के पत्तो ने,
तेरी ज़ुल्फ़ों की अंगड़ाई याद कराई हैं,
आज फिर तेरी याद हमें आईं हैं,
लबों पे वही मुस्कुराहट फिर लाई हैं !!

बरसात में भीगी मिट्टी की महक ने हमें,
तेरे बदन की खुशबू याद कराई हैं,
होली में बिखरे इन रंगों ने कुछ बेढंगी से,
जीवन में बिखेरे तेरे रंगों से बंदिश कराई हैं,
आज फिर तेरी याद हमें आई हैं,
लबों पे वही मुस्कुराहट फिर लाई हैं !!

नग़्मा-ए-इश्क़ की फ़रमाइश पर,
आज तेरी मोहब्बत याद आई हैं,
इश्क़-मोहब्बत, क्या हैं कोई पूछें तो,
हर जवाब में बस तेरा ज़िक्र लाई हैं,
आज फिर तेरी याद हमें आई हैं,
लबों पे वही मुस्कुराहट फिर लाई हैं !!
©अमन झा

Teri Yaad Aayi Hai

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Aaj Phir Teri Yaad Hame Aayi Hai,
Labo Pe Wahi Mukurahat Phir Laayi Hai,
Kaise Bhoolta Har Us Mulakaat Ko,
Jab Tu Chupkar Mujhse Milne Aayi Hai,
Aaj Phir Teri Yaad Hame Aayi Hai !!

Subah Ki Har Ons Ki Boond Ne Hame,
Tere Chehre Ki Chamak Yaad Dilayi Hai,
Lehraati, Balkhaati Ped Ke Patto Ne,
Teri Zulfo Ki Angdaai Yaad Karai Hai,
Aaj Phir Teri Yaad Hame Aayi Hai,
Labo Pe Wahi Mukurahat Phir Laayi Hai !!

Barsaat Mein Bheegi Mitti Ki Mehek Ne Hame,
Tere Badan Ki Khushbu Yaad Karai Hai,
Holi Mein Bikhre In Rango Ne Kuch Bedhangi Se,
Jeevan Mein Bikhere Tere Rango Se Bandish Karai Hai,
Aaj Phir Teri Yaad Hame Aayi Hai,
Labo Pe Wahi Muskurahat Phir Laayi Hai !!

Nagma-e-ishq Ki Farmaish Par,
Aaj Teri Mohabbat Yaad Aayi Hai,
Ishq-mohabbat, Kya Hai Koi Pooche Toh,
Har Jawab Mein Bas Tera Zikr Laayi Hai,
Aaj Phir Teri Yaad Hame Aayi Hai,
Labo Pe Wahi Mukurahat Phir Laayi Hai !!
©Aman Jha

Aman Jha
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account