Jab Apno Ne Hi Loot Liya – Sad Shayari

जब अपनों ने ही लूट लिया

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

जब अपनों ने ही लूट लिया,
क्या शिकवा करूँ मैं ओरो पर !!
बाहर से प्यार जताते थे,
अंदर से नफ़रत जोरों पर !!
अरे मिल कर बात सुलझा लेते,
ना आती दरार इन रिश्तों पर !!
अरे कौन सी दुश्मनी निकालते हो,
सच बताओं तुम इन किश्तों पर !!
~सुखबीर सिंह

Jab Apno Ne Hi Loot Liya

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Jab Apno Ne Hi Loot Liya,
Kya Shikwa Karu Main Auro Par !!
Bahar Se Pyaar Jtate The,
Ander Se Nafrat Zoro Par !!
Arey Mil Kar Baat Suljha Lete,
Naa Aati Daraar In Rishto Par !!
Are Kon Si Dushmani Nikaalte Ho,
Sach Tum In Kishto Par !!
~Sukhbir Singh

Sukhbir Singh Alagh
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account