Main Bhi Baccha Tu Bhi Baccha – Hindi Poem About Child

मैं भी बच्चा तू भी बच्चा

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

मैं भी बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!
मैं पढते-पढते थक जाता,
वो काम कर भी न थकता,
मैं तरह-तरह का खाना खाता,
वो सूखी रोटी से ही पेट भर जाता !!
मैं भी बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!

मैं तो पढ़ कर सो जाता,
वो अपने ख्बाब सजाता !!
मैं सुबह उठ कर चाय मांगता,
वो सुबह उठ थेला ले कूड़े के ढेरो पर जाता,
मैं भी बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!

मैं तैयार हो स्कूल को जाता,
और वो पेट भर खाना जुटाता !!
मैं भी कहूं कैसी ये सोच,
उस गरीब को न कोई पास बुलाता !!
मैं बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!

मदद करो इनकी गुरसेवक कहता,
फिर ही होगा ये जीवन सच्चा !!
प्रकाश सत्यार्थी जैसे लोगो से ही,
बचपन होता बच्चों का पक्का !!
अरे! मैं भी बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!
तेरा-मेरा फरक मिटा दें,
बच्चो को हम इन्साफ दिला दें !!
अरे! मैं भी बच्चा तू भी बच्चा,
कैसा है ये जीवन कच्चा !!
~गुरसेवक सिंह पवार जाखल

Main bhi baccha tu bhi baccha,
Kaisa hai ye jivan kaccha !!
main padhte – padhte thak jata,
wo kaam kar bhi na thakta !!
main tarah-tarah ka khaana khata,
wo sukhi roti se hi pet bhar jata !!
Main bhi baccha tu bhi baccha,
Kaisa hai ye jivan kaccha !!

main to padh kar so jata,
wo apne khwab sajata !!
main subah utha kar chai mangta,
wo subah uth thaila le koode ke dhero par jata !!
main bhi baccha tu bhi baccha,
kaisa hai ye jivan kaccha !!

main taiyaar ho school ko jata,
aur wo pet bhar khana jutata !!
main bhi kahu kaisi ye soch,
us garib ko na koi pass bulata !!
main bhi baccha tu bhi baccha,
kaisa hai ye jivan kaccha !!

madad kar inki gursevak kehta,
phir hi hoga ye jeevan saccha !!
prakash satyarthi jaise logo se hi,
bachpan hota baccho ka pakka !!
arey ! main bhi baccha tu bhi baccha,
kaisa hai ye jeevan kaccha !!
tera mera fark mita de,
baccho ko ham insaaf dila de !!
arey ! main bhi baccha tu bhi baccha,
kaisa hai ye jeevan kaccha !!
~Gursevak Singh Pawar Jakhal

Gursevak singh pawar jakhal
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account