Manzil To Aaj Bhi Purani Hai Bas Naye – Love Shayari

मंजिल तो आज भी पुरानी है बस नए

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

अब तो न प्यार की तलाश है,
न ही एक सुकून का एहसास है !!
बदलता मौसम नहीं है मेरा इश्क,
मंजिल तो आज भी पुरानी है,
बस नए ये अलफ़ाज़ है !!
~हर्षित मेहंदीरत्ता

Manzil To Aaj Bhi Purani Hai Bas Naye

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Ab To Naa Pyaar Ki Talash Hai,
Na Hi Ek Sukoon Ka Ehsaas Hai !!
Badalta Mausam Nahi Hai Mera Ishq,
Manzil To Aaj Bhi Purani Hai,
Bas Naye Ye Alfaaz Hai !!
~Harshit Mehandiratta

Harshit Mehandiratta
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account