Papa Humesha Sath Rehna – Father’s Day Special Shayari

पापा हमेशा साथ रहना,
गर्मी में ठंडी छाव बनकर,
और ठण्ड में जलता अलाव बनकर,
आये बारिश तो अपने सीने में छुपाकर,
डाँटना, फटकारना, दिल की बात कहना,
पापा हमेशा साथ रहना !!

लगे चोट मुझे तो रखना ख्याल,
गिरने लागु रास्ते में तो लेना संभाल !!
गलती करने पर पूछना ढेरो सवाल !!
बस अपने दर्द आप अकेले न सहना,
पापा हमेशा साथ रहना !!

जानता हूँ, आपकी आँखों में है कुछ सपने,
कुछ परिवार के लिए तो कुछ अपने,
कुछ ऐसे अरमान भी है जो बाकी है पनाप्पने !!
पूरा करूँगा हर ख्वाब बस इतना है आपसे कहना,
पापा बस आप हमेशा साथ रहना !!

गलतियाँ करने पर जो थप्पड़ दिया,
मेरे हर दर्द को पहले खुद पर लिया,
पकड़ा जो हाथ मेरा, इन सब के लिए शुक्रिया !!
बस मुझ पर अपने आशीर्वाद बनाए रखना,
पापा आप हमेशा हमेशा साथ रहना !!
~विजय कुमार खेमका

Papa Humesha Sath Rehna,
Garmi Me Thandi Chhaw Bankar,
Aur Thand Me Jalta Alaav Bankar,
Aaye Baarish To Apne Seene Me Chupakar,
Daatna, Fatkarna, Dil Ki Baat Kehna,
Papa Humesha Sath Rehna !!

Lage Chhot Mujhe To Rakhna Khyaal,
Girne Lagu Raaste Me To Lena Sambhaal,
Galati Karne Par Poochna Dhero Swaal !!
Bas Apna Dard Aap Akele Na Sehna,
Papa Humesa Sath Rehna !!

Jaanta Hu Aapki Aankho Me Hai Kuch Sapne,
Kuch Pariwaar Ke Liye To Hai Kuch Apne,
Kuch Aise Armaan Bhi Hai Jo Baaki Hai Panapne !!
Pura Karunga Har Khwaab Bas Itna Hai Aapse Kehna,
Papa Bas Aap Humesa Sath Rehna !!

Galatiya Karne Par Jo Thappad Diya,
Mere Har Dard Ko Pehle Khud Par Liya,
Pakda Jo Hath Mera, in Sab Ke Liye Sukriyaa !!
Bas Mujh par Apna Aashirwaad Banaaye Rakhna,
Papa Aap Hamesha Hamesha Sath Rehna !!
By Vijay Kumar Khemka

VIJAY KUMAR KHEMKA
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

4 Comments
  1. NiVo (Nitin Verma) 5 वर्ष ago

    Well done .. … keep it up buddy … ☺

  2. Author
    VIJAY KUMAR KHEMKA 5 वर्ष ago

    Dhanyawaad Devanah Ji.

  3. devansh raghav 5 वर्ष ago

    अद्धभुत, आपकी लेखनी को प्रणाम।
    अच्छी रचना।

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account