Par Tumhara Saath Nahi – Sad Shayari

पर तुम्हारा साथ नहीं

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

राह भी है,
हौंसला भी है,
मंजिल का ठिकाना भी है…
पर तुम्हारा साथ नहीं !!

सांसें भी है,
धड़कन भी है,
जीने की चाह भी है…
पर तुम्हारा साथ नहीं !!

सूरज भी है,
चाँद भी है,
इस दुनिया की रीत भी है,
पर तुम्हारा साथ नहीं !!
~विजय सिंह दिग्गी

rah bhi hai,
hausla bhi hai,
manzil ka thikana bhi hai…
par tumhara saath nhi !!

sansein bhi hai,
dhadkan bhi hai,
jeene ki chah bhi hai…
par tumhara saath nhi !!

suraj bhi hai,
chand bhi hai,
Is duniya ki reeth bhi hai…
par tumhara saath nhi !!
~Vijay Singh Diggi

vijay singh diggi
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account