Unki Aankho Se Main Rab – Hindi Love Shayari

उसकी उन आँखों से मैं रब

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

कई खामोश लब मेरे, कुछ कहने को आया हूँ,
इन ढलती हुई शामों में, रहने को आया हूँ !!
बड़ी चुप्पी सी ठहरी थी, उसकी उन साँसों में,
उसकी उन आँखों से, मैं रब को मांगने आया हूँ !!
~प्रभाव गीत

Uski Un Aankho Se Main Rab

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Kai Khamosh Lab Mere, Kuch Kehne Ko Aaya Hoon,
In Dhalti Huyi Shaamo Mein, Rehne Ko Aaya Hoon !!
Badhi Chuppi Si Thehri Thi, Uski Un Saanso Mein,
Uski Un Aankho Se, Mein Rab Ko Mangne Aaya Hoon !!
~Prabhav Geet

Pulkit Prabhav
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account