Yahi To Soch Karke – Life Shayari

यही तो सोच करके

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

किसी की आँख का आँसू, मेरी आँखों से छलका है,
न जाने कौन अपना है, जो घर से भटका है !!
नही हूँ मैं यहाँ बेघर, यहाँ तो सभी मेहमान है,
यही तो सोच करके, दिल हुआ मेरा भी हल्का है !!
~कुमार रवि हिन्द

Yahi To Soch Karke

Badhi Photo Dekhne Ke Liye Click Kare

Kisi Ki Ankh Ka Aansoo, Meri Aankho Se Chalka Hai,
Na Jaane Kon Apna Hai, Jo Ghar Se Bhatka Hai !!
Nahi Hu Main Beghar, Yahan To Sabhi Mehmaan Hai,
Yahi To Soch Karke, Dil Huya Mera Bhi Halka Hai !!
~Kumar Ravi Hind

Kumar ravi hind
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account