Main Kya Jaanu Sahab Jinpar 500 Aur 1000 Likhe – Hindi Shayari

मैं क्या जानू साहब जिन पर 500 और 1000 लिखे

बड़ी फोटो देखने के लिए क्लिक करे

मैं क्या जानू साहब, जिन पर,
500 और 1000 लिखे है !!
मेरी खुशियाँ तो अभी भी,
1 और 2 रुपए के सिक्के है !!
~नितिन वर्मा

Main kya jaanu sahab, jin par,
500 aur 1000 likhe hai !!
Mere khushiya’n to abhi bhi,
1 aur 2 rupaye ke sikke hai !!
~Nitin Verma

NiVo (Nitin Verma)
Share This

कैसा लगा ? नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइए!

0 Comments

Leave a reply

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account