शायरी

Meri Antrman Ki Swarnim Ipsa - Love Hindi Kavita Shayari
शायरी
Aman Jha

मैंने कहा इन बारिश की बूँदों को
जरा जमकर बरसे प्रियसी की गली में
ऊष्मा से दहकते  उनकी गलियों को
अपनी शीतल बूंदों की चादर चढ़ा दे
कि आँगन में उनका नृत्य करना हो
मेरा अबोध भाव से उन्हें देखना हो ।

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Chalo Beheno Rakhi Bandhe - Indian Army Deshbhakti Hindi Shayari
शायरी
devansh raghav

चलो बहनो, राखी बांधे,
भारत माँ के लालों को !!
चलो बहनों, तिलक लगाएं,
वतन बचाने वालों को !!

वे सीमा पर अडिग खड़े हैं,
दुश्मन को ललकार रहे हैं !!
हिमालय के हिम शिखरों पर,
आगे बढ़ दहाड़ रहे हैं !!

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Duniya Mein Insaan Khud Ko Aise - Duniyadaari Hindi Shayari
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

दुनिया में इंसान खुद को ऐसे उठाना चाहता है।
हर एक शख्स यहाँ दूसरे को गिराना चाहता है।
भीतर पल रही नफ़रत की आग मन में, “केशव”
लेकिन मीठी बातों से प्यार दिखाना चाहता हैं।

Read More »
Jaroori Hai - Hindi Motivational Kavita Shayari
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

गिरते-गिरते भी चलना जरूरी हैं।
हर क़दम पर संभलना जरूरी हैं।
माना एक गहरा दरिया हैं ज़िन्दगी,
मगर हर हाल में गुजरना जरूरी हैं।

नम आँखों से भी हँसना जरूरी हैं।
मुसीबतों में रोज फंसना जरूरी हैं।
यहाँ दुनिया में कोई ना देगा खैरात,

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Bheed Mein Kabhi Dil Be-chara Na Ho - Hindi Sad Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

लफ़्ज़ों का स्वाद गर खारा ना हो,
कोई शख़्स यहाँ प्यार का मारा ना हो !!
मृगतृष्णा सा ना हो गर सहारा कोई,
तो भीड़ में कभी दिल बे-चारा ना हो !!

Read More »
Chulhaa Maa Aur Main - Maatr Prem Par Hindi Kavita
Poems
Aman Jha

गाँव छोड़ शहर आए कई वर्ष हो गए
एक धुंधली सी याद आज भी
मेरे ज़हन में रह गई है कहीं
बचपन में जब भी
माँ कपड़े या बर्तन धोने बाड़ी में जाती
मैं जल्दी से रसोई घर में घुस जाता
कढ़ाई चढ़ा कर चूल्हे पर मैं रोज
उसे जलाने की कोशिश करने लगता था
पर कुछ ही समय में मुझे यकीन हो चला था

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
E-dil Aukaat Mein Reh - Sad Love Hindi Shayari
शायरी
dhawal joshi

गुलाम हैं तू, गुलामगिरी कर,
ए-दिल औकात में रह, मोहब्बत न कर !!

कमज़ोर हैं टूट जाएगा, बिखर जाएगा, अहंकार ना कर,
ए-दिल औकात में रह, मोहब्बत न कर !!

हैं ग़र फिर भी गुमान तुझे, तो खुद को साबित कर,
ए-दिल औकात में रह, मोहब्बत न कर !!

Read More »
Mausam Patjhad Ka Jaroor Aata Hai - Sad Life Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

लोगों को कभी कुछ खास मिल जाने पर
ना जाने कैसे इतना गुरूर आता है…
अपने शहर में तो वसंत और बरसात के बाद
मौसम पतझड़ का जरूर आता है…

Read More »
Ghar Ke Gaddaaro Ka Safaya Ho Toh Baat Bane - Desh Bhakti Hindi Kavita
शायरी
Lokesh Gautam(Keshav)

सरहद पर तो हम दुश्मन से निपट ही लेंगे यारो,
पहले घर के गद्दारों का सफाया हो तो बात बने।

करते हैं जो चुगली अपने ही देश की बाज़ार में,
इन्हें बाज़ार से बाहर निकाला जाए तो बात बने।

पूरी शायरी पढ़ने के लिए क्लिक करे!

Read More »
Ik Dhool Hai Jo Galatfehmi Ki - Sad Life Hindi Shayari
शायरी
NiVo (Nitin Verma)

जो हुई खता
चलो! सब गुनाह हम एतराफ़ करते है,
इक धूल है जो गलतफ़हमी की
आओ! इसे भी साफ़ करते है !!

Read More »

Made with  in India.

© Poems Bucket . All Rights Reserved.

Log in with your credentials

or    

Forgot your details?

Create Account